Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
हाज़िर जवाब पर आपका स्वागत है!
0 जैसा 0 नापसंद
529 बार देखा गया
(3.7k अंक) द्वारा में धार्मिक साहित्य पूछा गया
द्वारा edited
Tell me the name of religion, of all classes?

1 उत्तर

0 जैसा 0 नापसंद
(1.5k अंक) द्वारा उत्तर
हिन्दू : आज से 3 हजार वर्ष पहले कश्मीर से कन्याकुमारी तक व अफगानिस्तान की हिंदूकुश पर्वतमाला से लेकर बांग्ला देश की खाड़ी तक सिर्फ हिन्दू धर्म था। ईसा से तीन हजार वर्ष पूर्व इस धर्म को भगवान श्रीकृष्ण ने सर्वप्रथम संगठित रूप दिया था, जो कि कालांतर में असंगठित हो गया।
इस्लाम : अरब व्यापारियों के माध्यम से इस्लाम धर्म 7वीं शताब्दी में दक्षिण भारत में आया। अफगानी, ईरानी और मुगल साम्राज्य के दौर में इस्लाम धर्म दो तरीके से फैला- प्रथम सूफी संतों के प्रचार-प्रसार द्वारा तथा द्वितीय मुगल शासकों द्वारा किए गए दमन चक्र से।

सिख : इस धर्म के संस्थापक गुरु नानकदेवजी ने 15वीं शताब्दी में एकेश्वर और भाईचारे पर बल दिया था। भारतीय पंजाब में इस धर्म की उत्पत्ति हिन्दुओं और मुसलमानों के बीच बढ़ते वैमनस्य के चलते हुई थी। खालसा पंथ की स्थापना कश्मीरी पंडितों और हिन्दुओं को इस्लामिक अत्याचारों से बचाने के लिए हुई थी।
ईसाई : एक शोध के अनुसार ईसा मसीह ने कश्मीर में एक बौद्ध मठ में शिक्षा और दीक्षा ग्रहण की थी। ईसा मसीह के एक शिष्य सेंट थॉमस ने ही सर्वप्रथम केरल के एक स्थान से ईसाई धर्म का प्रचार-प्रसार किया था।
जैन : ईसा पूर्व छठी शताब्दी में भगवान महावीर स्वामी ने जैन धर्म का प्रचार-प्रसार किया था। इसके फलस्वरूप बहुत से क्षत्रिय और ब्राह्मण जैन बन गए। उन्होंने तप, संयम और अहिंसा का संदेश दिया। उनका प्रिय महावाक्य था- 'जीयो और जीने दो।'
बौद्ध : जैन धर्म के लगभग ही बौद्ध धर्म की स्थापना हुई। गौतम बुद्ध एक क्षत्रिय राजकुमार थे, जिनसे प्रभावित होकर विप्रों में भिक्षु होने की होड़ लग गई। सम्राट अशोक भी खुद बौद्ध बन गए थे।

पारसी : यह धर्म ईरान का प्राचीन धर्म है। ईरान पर इस्लामी विजय के बाद अनेक पा‍रसियों को इस्लाम कबूल करना पड़ा था। कई पा‍रसियों ने अपना गृहदेश छोड़कर भारत में शरण ली थी। सबसे पहले पारसियों का समूह 766 ईपू दमन और दीव पहुंचा था। दुनिया में कुछेक को छोड़कर सारे पारसी अब भारत में ही रहते हैं।
यहूदी : यहूदियों ने आज से 2985 वर्ष पूर्व यानी 973 ईपू में भारत में केरल के मालाबार तट पर प्रवेश किया था। यहूदियों के पैगंबर मूसा थे, लेकिन तत्कालीन दौर में उनके प्रमुख राजा सोलोमन थे। इसका व्यापारी बेड़ा मसालों और प्रसिद्ध खजाने के लिए आया था। आतिथ्य प्रिय हिन्दू राजा ने यहूदी नेता जोसफ रब्बन को उपाधि और जागीर प्रदान की थी।
इस प्रकार हम देखते हैं कि भारत में अनेक धर्मों के लोग अलग-अलग देशों से आए और यहीं के होकर रह गए। भारत पर अत्याचारों का दौर सदियों रहा, किंतु कुछ बात है कि 'हस्ती मिटती नहीं हमारी।'

संबंधित प्रश्न

1 पसंद 0 नापसंद
1 उत्तर
मार्च 9 Deepak jadon (3.7k अंक) द्वारा में फुल फॉर्म पूछा गया
0 जैसा 0 नापसंद
1 उत्तर
जुलाई 2, 2018 गुमनाम द्वारा में मनोरंजन पूछा गया
0 जैसा 0 नापसंद
1 उत्तर
0 जैसा 0 नापसंद
0 उत्तर
0 जैसा 0 नापसंद
0 उत्तर
जनवरी 23, 2018 गुमनाम द्वारा में धार्मिक साहित्य पूछा गया
0 जैसा 0 नापसंद
1 उत्तर
0 जैसा 0 नापसंद
0 उत्तर
4 दिनों पूर्व Himanshu Jangam (361 अंक) द्वारा में धार्मिक साहित्य पूछा गया
1 पसंद 0 नापसंद
1 उत्तर
0 जैसा 0 नापसंद
0 उत्तर
0 जैसा 0 नापसंद
1 उत्तर
0 जैसा 0 नापसंद
1 उत्तर
अक्टूबर 20, 2018 गुमनाम द्वारा में धार्मिक साहित्य पूछा गया
0 जैसा 0 नापसंद
1 उत्तर
0 जैसा 0 नापसंद
0 उत्तर
अगस्त 29, 2017 गुमनाम द्वारा में धार्मिक साहित्य पूछा गया
0 जैसा 0 नापसंद
0 उत्तर
0 जैसा 0 नापसंद
0 उत्तर
0 जैसा 0 नापसंद
0 उत्तर
4 दिनों पूर्व Himanshu Jangam (361 अंक) द्वारा में सामान्य ज्ञान पूछा गया
1 पसंद 0 नापसंद
0 उत्तर
2 सप्ताह पूर्व Himanshu Jangam (361 अंक) द्वारा में राजनीतिक दल पूछा गया
1 पसंद 0 नापसंद
0 उत्तर
1 पसंद 0 नापसंद
0 उत्तर
3 सप्ताह पूर्व ashutosh sharma (4k अंक) द्वारा में सामान्य ज्ञान पूछा गया

नये प्रश्न

सभी वर्गों के धर्मो के नाम बताओ ?
हाज़िर जवाब, विश्व की प्रथम हिन्दी प्रश्न उत्तर वेबसाइट पर आपका स्वागत है, जहां आप समुदाय के अन्य सदस्यों से हिंदी में प्रश्न पूछ सकते हैं और हिंदी में उत्तर प्राप्त कर सकते हैं |
प्रश्न पूछने या उत्तर देने के लिये आपको हिंदी मे टाइप करने की जरुरत नहीं हैं, आप हिंग्लिश (HINGLIS) मे भी टाइप कर सकते है!

डाउनलोड हाज़िर जवाब एंड्राइड ऍप

4k प्रश्न

4.8k उत्तर

1.3k उपयोगकर्ता


...